मंदिरों में गुंजा नंद के आनंद भयो, जय कन्हैयालाल की.